Saturday, 27 April 2019

Elements of Art-कला तत्व

कला तत्व


  1. रेखा (Line)
  2. रूप (Form)
  3. वर्ण या रंग (Colour)
  4. तान (Tone)
  5. पोत (Texture)
  6. अंतराल (Space)
1.      रेखा (Line)
      रेखा दो बिन्दुओं या सीमाओं के बीच की दुरी है जो बहुत सूक्ष्म होती है और गति की दिशा को निर्देशित करती है |
      कला में रेखा प्रतीकात्मक रूप में होती है जो किसी आकार या रूप की अभिव्यक्ति, शक्ति या प्रवाह का रेखांकन होती है |
2.      रूप (Form)
      रूप वह वर्ण या स्थान है जिसका अपना निश्चित अकार तथा रंग होता है |
      साधारनतया वास्तु (Object) की आकृति को रूप कहते हैं |
      रूप या आकृति की रचना रेखा के साथ-साथ रंग से भी होती है |
3.      वर्ण या रंग (Colour)
      वर्ण प्रकाश का गुण है, ना कि वस्तु का | इसका कोई स्वतंत्र अस्तित्व नही होता बल्कि अक्षपटल द्वरा मस्तिष्क पर पड़ने वाला एक प्रभाव है |
तान (Tone)
      रंगों के हल्के या गेहरेपन को तान कहते हैं |
      ये हमें किसी भी रंग में सफ़ेद या कला रंग मिलाने से प्राप्त है |
      रंगों में सफ़ेद व काले रंग की मात्रा के अंतर से उनके तान विभिन्न रूपों में प्राप्त कीये जा सकते हैं
      इसके तीन मुख्य भाग छाया (Dark Tone), मध्य तान (Half Tone) व प्रकश  (Light) हैं |

पोत (Texture)
      किसी भी वास्तु के धरातलीय गुण को पोत कहते हैं |
      पोत चित्रांकन का महत्वपूर्ण अंग है और इसको पाने के लिए चित्रण शैली, तकनीक और विधि का सहयोग लिया जाता है |

अंतराल (Space)
      अन्तराल का मतलब चित्र में खली जगह से है
      ये चित्र के मुख्य विषय या वस्तु के आस पास, या उसके अंदर हो सकता है |
      ये नकारात्मक या सकारात्मक हो सकता है |
      ये सकरा हो सकता है और गहरा भी और 2D भी हो सकता है और 3D भी |
      कभी-कभी ये नही भी हो सकता है मगर उसका भ्रम जरुर होगा |

0 comments: